14 May 2021

bebaakadda

कहो खुल के

राजस्थान : 8 शहरों में नाइट कर्फ्यू, रात 10 बजे से बाजार बंद

75 Views
राजस्थान : 8 शहरों में नाइट कर्फ्यू, रात 10 बजे से बाजार बंद
राजस्थान, बेबाक अड्डा
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण की आशंका को देखते और लोगों  की जीवन की रक्षा और आजीविका को सुचारू रखने के लिए जनहित में आवश्यक कदम उठाने का निर्णय लिया है. कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद कोविड-19 प्रोटोकॉल की सख्ती से पालन करवाने एवं विभिन्न समारोहों एवं कार्यक्रमों में लोगों की संख्या सीमित करने के साथ ही कोविड-19 उपचार एवं जांच व्यवस्था को और बेहतर बनाने के निर्देश दिये हैं. 25 मार्च से राजस्थान में बाहर से आने वाले सभी यात्रियों के लिए 72 घंटे के भीतर की आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य होगी. पूर्व में केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश से आने वालों के लिए इसकी अनिवार्यता थी. अब सभी राज्यों से आने वालों के लिए इसे अनिवार्य किया गया है. हवाई अड्डा, बस स्टैंड तथा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की जांच भी की जाएगी, जो यात्री नेगेटिव रिपोर्ट के बिना आयेंगे. उन्हें 15 दिन के लिए क्वारंटीन में रहना होगा. सभी जिला कलेक्टरों को उनके जिलों में संस्थागत पृथकवास की व्यवस्था भी पुनः प्रारम्भ करने के लिये निर्देशित किया गया है. जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार  अजमेर, भीलवाड़ा, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा एवं कुशलगढ़ में रात्रि 11 से प्रातः 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा. निर्णय के अनुसार राज्य के सभी नगरीय निकायों में 22 मार्च से रात्रि 10 बजे के बाद बाजार बंद रहेंगे. अजमेर, भीलवाड़ा, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा एवं कुशलगढ़ में रात्रि 11 से प्रातः 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा.
प्राथमिक स्कूल अगले आदेश तक बंद
प्राथमिक स्कूल अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है. ऊपर की कक्षाओं एवं कॉलेजों में कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुपालन के साथ शैक्षणिक गतिविधियां संचालित होंगी।. विवाह समारोह में 200 लोग एवं अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोगों को ही अनुमति होगी. विवाह की सूचना संबंधित उपखंड मजिस्ट्रेट को ई-मेल से भी दी जा सकेगी. प्रशासन के मांगने पर विवाह समारोह से संबंधित वीडियोग्राफी उपलब्ध करानी होगी. धार्मिक ट्रस्टों, प्रबंध समितियों एवं स्वयंसेवी संगठनों से अपील की है कि वे दर्शन करने वालों के लिए मास्क एवं सेनेटाइजिंग आदि की समुचित व्यवस्था करें. धार्मिक स्थलों पर आयोजित होने वाले उत्सवों, त्योहारों, मेलों आदि के संदर्भ में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपील की है कि प्रबंध समितियां आनलाइन दर्शन की व्यवस्था कराये. सभी दिशा-निर्देश तुरंत प्रभाव से लागू होगा.

Bebaak adda
Author: Bebaak adda

    Subscribe us and do click the bell icon

    Translate »